प्रीति जिंटा ने 20 बार कोरोना टेस्ट कराया, बायो बबल में बताया कि जीवन कैसा होता है

[ad_1]

प्रीति जिंता (फोटो हथियाना- @ realpz / Instagram वीडियो)

प्रीति जिंटा (फोटो हथियाना- @ realpz / Instagram वीडियो)

प्रीति जिंटा (प्रीति जिंटा) ने कोरोना टेस्ट (कोरोना टेस्ट) रखते हुए वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने ये भी बताया है कि आईपीएल (आईपीएल 2020) बायो बबल (बायो बबल) में लाइफ कैसी होती है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:20 अक्टूबर, 2020, 8:17 PM IST

मुंबई। इन दिनों आईपीएल 2020 (आईपीएल 2020) सीजन चल रहा है। इस महामारी के दौर में भी आईपीएल आयोजित करने के लिए आयोजकों को कई तरह के खास इंतजाम करने पड़े। वहीं इन इंतजामों के बारे में किंग्स इलेविन पंजाब की मालकिन और बॉलीवुड की होने-मानी एक्ट्रेस प्रीति जिंटा (प्रीति जिंटा) ने खुलासा किया है। प्रीति जिंटा ने बताया है कि वे बायो बबल (बायो बबल) में रह रही हैं और इस दौरान उनका जीवन कैसा है। इस वीडियो में प्रीति ने खुद को कोरोना टेस्ट (कोरोना टेस्ट) क्वीन बताते हुए कहा है कि उन्होंने अब तक लगभग 20 बार कोरोना टेस्ट करवाया है।

दरअसल, प्रीति जिंता ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में प्रीति कोरोना टेस्ट करवाती दिखाई दे रही हैं। प्रीति के सामने पीसीबीई किट पहने मेडिकल स्टाफ की एक महिला उनका टेस्ट कर रही है। वहीं टेस्ट कराने के बात प्रीति जिंटा कहती दिखाई दे रही हैं कि ये महिला कोरोना टेस्ट करने के लिए बस्ट पर्सन हैं क्योंकि वो बेहद संजीदगी से जांच करती हैं। यहां देखें प्रीति जिंटा का वीडियो

इस वीडियो के कैप्शन में प्रीति ने बताया कि आईपीएल बायो बबल में जीवन कैसा होता है। उन्होंने लिखा- ‘मुझे हर कोई पूछता है कि आईपीएल टीम बायो बबल में रहना कैसा होता है। तो बता दूं कि ये 6 दिन के क्वारंटाइन से शुरु होता है, कोविड टेस्ट हर 3 से 4 दिन में और बाहर नहीं जाना, सिर्फ हमारे कमरे, KXIP के लिए निर्धारित रेस्तरां, जिम और जाहिर तौर पर कार में स्टेडियम। ड्राइवर्स, शेफ सभी बायो बबल में ही रहते हैं। इसलिए बाहर से कोई खाना नहीं, लोगों ने बातचीत नहीं की। अगर आप मेरी तरह मुक्त बर्ड हैं तो ये काफी मुश्किल है लेकिन फिर ये 2020 है। हमें इस बात पर खुश होना चाहिए कि महामारी के बीच में आईपीएल आयोजित हुआ। ‘



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *